पार्टी में नहीं कोई दलबदल, साबित करने के लिए विधानसभा में लाएंगे विश्वास प्रस्ताव: केजरीवाल

नई दिल्ली । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि वह यह साबित करने के लिए दिल्ली विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव लाएंगे कि आम आदमी पार्टी (आप) का कोई विधायक दलबदल नहीं हुआ है।

केजरीवाल ने कहा कि भाजपा का ‘ऑपरेशन लोटस’ दिल्ली आने के बाद कीचड़ में बदल गया है।

उन्होंने दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र को संबोधित करते हुए कहा यह टिप्पणी की। केजरीवाल ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का जिक्र करते हुए कहा कि ‘सभी सरकारों की हत्या करने वाला सीरियल किलर शहर में आया है’।

केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा, “भाजपा ने कई सरकारों को गिरा दिया है और अब उनका रुख दिल्ली की ओर हो गया है। हमारे देश में सरकारों का सीरियल किलर है। पैटर्न वही है।”

दिल्ली के सीएम ने कहा, “उन्होंने अब तक कई सरकारों को गिराया है, शहर में एक सीरियल किलर आया है। यह हर जगह सरकार को गिराने का पैटर्न है। पहले सीबीआई-ईडी भेजें, छापेमारी करें, फिर डराएं। हमने कुछ गलत नहीं किया है, हम जेल जाने से नहीं डरते हैं।”

उन्होंने कहा, “महाराष्ट्र में उनका रेट 50 करोड़ रुपये था।”

उन्होंने दावा करते हुए कहा, “भाजपा ने अब तक देश भर में 277 विधायक खरीदे हैं। हमने हिसाब लगाया है कि 277 विधायक उनकी पार्टी (भाजपा) में आए हैं, अब अगर उन्होंने प्रत्येक विधायक को 20 करोड़ रुपये दिए होते तो उन्होंने 5,500 करोड़ रुपये के विधायक खरीदे। इसलिए महंगाई है, क्योंकि वे आम आदमी की कीमत पर विधायकों को खरीदने के लिए सारे पैसे का उपयोग कर रहे हैं।”

केजरीवाल ने अपने संबोधन में आरोप लगाया, “जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) और महंगाई से यह सारा पैसा दो चीजों के लिए खर्च किया जा रहा है- विधायकों को खरीदने और सरकार के अरबपति दोस्तों के कर्ज को माफ करने के लिए।”

दिल्ली सरकार की आबकारी नीति और सरकार को अस्थिर करने की भाजपा की कथित पेशकश को लेकर आप और भाजपा के बीच राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप के बीच दिल्ली विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया है। आप का आरोप है कि भाजपा पार्टी विधायकों को केजरीवाल सरकार गिराने के लिए लालच दे रही है।

सीएम केजरीवाल ने कहा, “जब महाराष्ट्र सरकार को गिराना था तो दूध, दही और छाछ पर जीएसटी लगाया गया था, जब दोस्तों का कर्ज माफ करना होता है, तो पेट्रोल-डीजल महंगा हो जाता है। खबर है कि झारखंड की सरकार गिरने वाली है..अगले कुछ दिनों में किसी न किसी पर जीएसटी लग जाएगा।”