भारत के एक लाख से अधिक गांवों ने ओडीएफ प्लस का दर्जा प्राप्त प्राप्त किया

नई दिल्ली: भारत सरकार के प्रमुख कार्यक्रम स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण ने एक और प्रमुख उपलब्धि प्राप्त कर ली है। केंद्र सरकार ने इस उपलब्धि को बताते हुए कहा है कि 101462 गांवों ने खुद को ओडीएफ (खुले में शौच मुक्त) प्लस घोषित किया है। ये गांव अपनी ओडीएफ स्थिति को बनाए हुए हैं और ठोस या तरल कचरे के प्रबंधन के लिए प्रणाली मौजूद हैं और वे अपनी स्वच्छता यात्रा जारी रखेंगे क्योंकि वे अपने गांवों को स्वच्छ, हरा-भरा और स्वस्थ बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने लगभग आठ वर्ष पहले, लाल किला की प्राचीर से स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत की थी। इसका उद्देश्य महात्मा गांधी को उनकी 150 वीं जयंती पर श्रद्धांजलि के रूप में देश को खुले में शौच से मुक्त बनाना था। श्री मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में पूरा देश, दुनिया के सबसे बड़े व्यवहार परिवर्तन अभियान में एक साथ आया और अपने लक्ष्य को हासिल किया। 

2 अक्टूबर 2019 को संयुक्त राष्ट्र द्वारा निर्धारित सतत विकास लक्ष्य-एसडीजी-6 लक्ष्य से 11 वर्ष पहले देश का ग्रामीण क्षेत्र खुले में शौच से मुक्त हो गया है। लेकिन, यह इस अभियान का अंत नहीं था, बल्कि इसने एक और अधिक चुनौतीपूर्ण, और अधिक आवश्यक कार्य; देश के गांवों को ओडीएफ प्लस बनाने के लिए संपूर्ण स्वच्छता या पूर्ण स्वच्छता सुनिश्चित करने की आवश्यकता के कार्य की नींव रखी।