Breaking News

भ्रष्टाचार मुक्त उत्तराखण्ड के संकल्प के जरिये सुशासन की तैयारी करते मुख्यमंत्री धामी

देहरादून: उत्तराखंड के अस्तित्व में आने के बाद से बारी बारी से राजनीतिक दलों ने उत्तराखंड को राजनीतिक नेतृत्व तो दिया लेकिन उत्तराखंड का बहुआयामी विकास कैसे सुनिश्चित होगा इस पर कम ही सोचा गया। यही कारण था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा एक ऐसे ऊर्जावान और संकल्पों से भरे युवा को उत्तराखंड के शासन की बागडोर सौंपी। एक ऐसा मुख्यमंत्री जिसका खुद का जीवन ही ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठा का प्रतीक है।

अब उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड को भ्रष्टाचार मुक्त प्रदेश बनाने के लिए पूरी शासन मशीनरी के साथ मिलकर दृढ़ संकल्प ले लिया है। हाल ही में मुख्यमंत्री धामी ने कहा है कि “भ्रष्टाचार मुक्त उत्तराखण्ड-1064 ऐप” लॉन्च होने के बाद से अभी तक 5 हजार से अधिक शिकायतें प्राप्त हुई हैं जिन पर सतर्कता विभाग द्वारा त्वरित रूप से कार्रवाई की जा रही है।

उत्तराखंड शासन के विजिलेंस विभाग से विकसित किए गए एप ‘भ्रष्टाचार मुक्त उत्तराखण्ड-1064’ के ज़रिये कोई भी व्यक्ति किसी किस्म के भ्रष्टाचार की जानकारी होने पर शिकायत दर्ज करा सकता है। मुख्यमंत्री धामी कह चुके हैं कि इस एप को लोगों तक ठीक से पहुंचाकर एप पर जो भी शिकायतें आती हैं, उनका यथाशीघ्र निस्तारण किया जाए।

जब इस एप की लॉन्चिंग हुई थी तब मुख्यमंत्र धामी ने कहा था कि , ‘यदि किसी शिकायतकर्ता की शिकायत विजिलेंस से संबंधित न हो, तो उसे सीएम हेल्पलाइन एवं संबंधित विभाग को भेजा जाए। सुनिश्चित किया जाए कि जो शिकायत की गई, उसके स्टेटस के बारे में अपडेट शिकायतकर्ता को मिले। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने विवेचना करने के लिए सतर्कता विभाग के दो इंस्पेक्टरों को टैबलेट भी प्रदान किए थे। विभाग के अन्य कर्मचारियों को भी विवेचना के लिए टैबलेट दिए जाने की घोषणा की गई थी।