Breaking News

सरकार अब रखेगी गरीबों की सेहत का ख्याल

हाथरस : कोरोना काल से लेकर अब तक गरीबों की दो वक्त की रोटी का जुगाड़ कर रही सरकार अब गरीबों की सेहत का भी ख्याल रखेगी। शासन की ओर से दिए गए निर्देशों के मुताबिक अब गरीबी की रेखा से नीचे अंत्योदय कार्ड धारकों के Ayushman card बनाए जाएंगे, ताकि वह बीमार होने पर मुफ्त में पांच लाख रुपये तक का इलाज करा सकें। हाथरस जिले में 49 हजार गरीबों के Ayushman card बनाने को शिविर लगाए जाएंगे।

स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम ने मांगी सूची : इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग की एक टीम डीएसओ से मिली और अंत्योदय कार्ड धारकों की सूची मांगी। जिले में करीब 16 हजार antyodaya card holder हैं, जिसमें 49 हजार लोगों के नाम दर्ज हैं। अंत्योदय परिवार के सभी लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाए जाने हैं।

निर्धारित सूची के आधार पर लाभार्थी परिवार का कार्ड बनाने का निर्देश दिया गया है, मगर हाथरस में आयुष्मान कार्ड बनाने की गति काफी धीमी है। स्वास्थ्य विभाग की टीम अभी तक 36 फीसद ही आयुष्मान कार्ड बना सकी है। स्वास्थ्य विभाग के डा. प्रभात दो दिन पहले DSO Dhruvraj Yadav से मिले और उनसे आयुष्मान कार्ड धारकों की सूची मांगी।

डा. प्रभात ने डीएसओ को बताया कि डीएम कई बार आयुष्मान कार्ड बनाने के लक्ष्य के पूरा न होने पर नाराजगी जता चुके हैं। इस पर डीएसओ ने बताया कि जिले में कुल 16 हजार अंत्योदय कार्ड धारक हैं और उनमें करीब 49 हजार लोगों के नाम दर्ज हैं। इन सभी का आयुष्मान कार्ड बनाया जाना है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम जिला पंचायत राज अधिकारी सुबोध जोशी से मिली और कहा कि ग्राम पंचायतों में शिविर लगाकर आयुष्मान कार्ड बनाए जाने हैं।

गांव व वार्ड में कैंप लगाकर सभी लाभार्थी का कार्ड बनाया जाएगा। लाभार्थियों की ग्राम व वार्ड की सूची तैयार कर कोटेदारों को भी सहयोग करने के लिए आदेशित किया गया है। लाभार्थियों की सूची आशा को दी जाएगी, जो अपने क्षेत्र के सभी लाभार्थी को अंत्योदय आयुष्मान कार्ड कैंप की जानकारी देंगी। लाभार्थी को अपने साथ राशनकार्ड के साथ आधार कार्ड लाना अनिवार्य है। डीपीआरओ सुबोध जोशी ने कहा है कि पंचायत सहायकों का इस कार्य में पूरा सहयोग मिलेगा। स्वास्थ्य विभाग का कोई नोडल अफसर पंचायत सहायकों से अपडेट लेते रहेंगे।