Breaking News

उत्तराखंड के CM धामी ने स्वतंत्रता दिवस पर किया ध्वजारोहण और संबोधन में कहीं यह बातें

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज 76वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री आवास में ध्वजारोहण किया तथा राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई। साथ ही अपना संबोधन दिया।

76वें स्वतंत्रता दिवस पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा- “देवभूमि उत्तराखण्ड के सम्मानित भाइयों-बहनों को देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश के लिए अपना सर्वस्व बलिदान करने वाले महान स्वतंत्रता सेनानियों, सैन्य एवं अर्ध सैन्य बलों के शहीद जवानों को मैं नमन करता हूँ”।

“आज हम आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री श्री @narendramodi जी के नेतृत्व में आजादी का #AmritMahotsav मना रहे हैं। यह अमृत महोत्सव हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों और वीर जवानों को समर्पित है”।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

देश के घर-घर में फहराता तिरंगा दुनिया को एक भारत-श्रेष्ठ भारत का संदेश दे रहा है।

कोविड-19 का जिस प्रकार हमने सामना किया, उसकी पूरे विश्व में सराहना हुई है। इतिहास की अनेक ऐतिहासिक समस्याओं का समाधान यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में ही संभव हुआ है।

भारत सरकार द्वारा स्वीकृत ‘उत्तराखण्ड इंटीग्रेटेड हॉर्टिकल्चर डेवलपमेंट प्रोजेक्ट’ हॉर्टिकल्चर के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होगा।

प्रधानमंत्री जी का उत्तराखण्ड के प्रति विशेष लगाव किसी से छुपा नहीं है। पिछले 8 वर्षों में केंद्र सरकार द्वारा 1 लाख 50 हजार करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाएं स्वीकृत हुई है।

लोगों को योजनाओं का लाभ मिले और उनकी समस्याओं का त्वरित समाधान हो इसके लिए हमारी सरकार सरलीकरण, समाधान, निस्तारण और संतुष्टि के मंत्र पर कार्य कर रही है।

हम गरीब परिवारों को 3 सिलेंडर मुफ्त उपलब्ध करवाने जा रहे हैं इसके लिए बजट में प्रावधान भी किया गया है।

उत्तराखण्ड में वृद्धावस्था पेंशन योजना के अंतर्गत पात्र पति व पत्नी दोनों को लाभ देने के साथ ही हमने पर्यावरण मित्रों और शिक्षा मित्रों के मानदेय में बढ़ोतरी भी की है। ऑनलाइन शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए केंद्रीय स्टूडियो तथा राज्य के समस्त 13 जनपदों के 500 विद्यालयों में वर्चुअल क्लासरूम की स्थापना की जा चुकी है।

उत्तराखण्ड देवभूमि ही नहीं वीरभूमि भी है देहरादून में भव्य सैन्य धाम की स्थापना की जा रही है। हमारी सरकार शहीद सैनिकों के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी में समायोजित कर रही है।