नितिन गडकरी क्या राजनीति छोड़ने की कर रहे हैं प्लानिंग? मौजूदा हाल पर कही यह बात

नागपुर : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी कभी कभी राजनीति से दूर जाने के बारे में भी सोचते हैं। उन्होंने शनिवार को खुद ही यह बात कही है। एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने मौजूदा सियासी हालात और माहौल को लेकर भी चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा कि आज के राजनेताओं को शिक्षा, कला जैसी चीजों के विकास के लिए काम करना चाहिए। गडकरी ने कहा कि उन्हें अपने पोस्टर लगाए जाना पसंद नहीं है। सामाजिक कार्यकर्ता गिरीश गांधी के सम्मान समारोह में पहुंचे गडकरी ने कहा, ‘हमें यह समझना होगा कि राजनीति का मतलब क्या है। क्या यह समाज, देश के कल्याण के लिए है या सरकार में बने रहने के लिए?’ उन्होंने कहा, ‘महात्मा गांधी के दौर से राजनीति सामाजिक आंदोलन का हिस्सा रही है, लेकिन बाद में इसका फोकस राष्ट्र और विकास के लक्ष्य की तरफ बढ़ गया।’

उन्होंने कहा, ‘आज जो हम देख रहे हैं, वह 100 फीसदी केवल सत्ता में बने रहने के बारे में है। राजनीति सामाजिक और आर्थिक सुधार का एक सच्चा साधन है और इसलिए आज के राजनेताओं को समाज में शिक्षा, कला आदि के विकास के लिए काम करना चाहिए।’ गिरीश गांधी को लेकर उन्होंने कहा, ‘जब गिरीश भाई राजनीति में थे, तो मैं उन्हें हतोत्साहित करता था, क्योंकि मैं भी कभी कभी राजनीति छोड़ने के बारे में सोचता हूं। राजनीति के अलावा भी जीवन में करने लायक कई चीजें हैं।’ गिरीश पूर्व एमएलसी हैं, जो पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी में शामिल थे, लेकिन साल 2014 में उन्होंने पार्टी से दूरी बना ली थी। इस दौरान गडकरी ने समाजवादी नेता जॉर्ज फर्नांडिस की भी तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है, क्योंकि उन्होंने कभी भी सत्ता की चिंता नहीं की। उन्होंने एक प्रेरणादायक जीवन जिया है… जब लोग मेरे लिए बड़े बुके लाते हैं या मेरे पोस्टर लगाते हैं तो मुझे इससे नफरत है।’