रुबैया सईद ने अपने अपहरणकर्ता के रूप में यासीन मलिक की पहचान की

जम्मू । जम्मू-कश्मीर के दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मुहम्मद सईद की बेटी रुबैया सईद ने शुक्रवार को यासीन मलिक की पहचान अपने अपहरणकर्ता के रूप में की है। रुबैया का 1989 में अपहरण कर लिया गया था। अभियोजन पक्ष की गवाह के रूप में सूचीबद्ध रुबैया सईद यहां सीबीआई अदालत में पेश हुईं और यासीन मलिक और तीन अन्य आरोपियों की पहचान उनके अपहरणकर्ताओं के रूप में की।

रुबैया सईद का 1989 में अपहरण कर लिया गया था और उनकी रिहाई के बदले चार आतंकवादी कमांडरों को सौंपना पड़ा था, जब उनके पिता वी.पी. सिंह सरकार में गृह मंत्री थे। मलिक को पहले ही टेरर फंडिंग मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई जा चुकी है, जिसमें उन्होंने अभियोजन द्वारा अपने खिलाफ लगाए गए आरोपों को स्वीकार किया था।