मूसलाधार बारिश से गढ़चिरौली में 128 गांवों से संपर्क टूटा,तेलंगाना में भारी बारिश का रेड अलर्ट

नई दिल्ली: देश के कई हिस्सों में भारी बारिश का सिलसिला जारी है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अगले चार दिनों तक दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में हल्की से भारी बारिश का अनुमान लगाया है। वहीं, दक्षिण भारत के भी कई इलाकों में इन दिनों जमकर बारिश हो रही है। तेलंगाना में रविवार तक के लिए बारिश को लेकर रेड अलर्ट जारी है। कर्नाटक और केरल में भी भारी बारिश होने का अनुमान है।

तेलंगाना में बारिश को लेकर रेड अलर्ट के मद्देनजर मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने मुख्य सचिव सोमेश कुमार को अहम निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में सभी संबंधित विभागों को सतर्क कर दिया जाए और सुरक्षा के त्वरित कदम उठाए जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह समय-समय पर स्थिति की समीक्षा करेंगे और रविवार को भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक करेंगे। उन्होंने लोगों से बारिश के दौरान कोई जोखिम नहीं लेने का आग्रह किया और जब तक बहुत जरूरी न हो तब तक घर से बाहर नहीं निकलने को कहा है।

तेलंगाना के इन इलाकों में आज बारिश का अनुमान
पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश के चलते कई स्थानों पर नाले उफान पर रहे, जबकि निचले इलाकों में पानी भर गया। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के बताया कि शनिवार को निजामाबाद जिले के नवीपेट में 23 सेंटीमीटर बारिश हुई। बारिश के कारण निचले इलाकों में लोगों को जलभराव का सामना करना पड़ा, जबकि निजामाबाद और कामारेड्डी जिलों में जलाशय भर गए। मौसम केंद्र ने चेतावनी देते हुए कहा कि कोमाराम भीम आसिफाबाद, मंचेरियल, निर्मल और अन्य जिलों में शनिवार से रविवार सुबह तक कई स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।

महाराष्ट्र के तीन जिलों में भारी बारिश, 128 गांवों से संपर्क टूटा
महाराष्ट्र के मराठवाड़ा और विदर्भ में हो रही मूसलाधार बारिश की वजह से आई बाढ़ से कम से कम 130 गांव प्रभावित हुए हैं और 200 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजना पड़ा। हालांकि, राहत की बात है कि अबतक कहीं से जानहानि की सूचना नहीं है। अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि पूर्वी महाराष्ट्र के गढ़चिरौली के 128 गांवों से भारी बारिश की वजह से संपर्क टूट गया है।

अधिकारियों ने बताया कि हिंगोली जिले के वसमत तालुका में शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे समाप्त हुए 24 घंटों के दौरान 150 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। उन्होंने दिन में बताया कि हिंगोली जिले के दो गांवों और पड़ोसी जिले नांदेड़ के हडगांव गांव, जो आसना नदी के किनारे बसे हैं, के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने हिंगोली के जिलाधिकारी को फोन करके लोगों को निकालने और अन्य प्रकार की सहायता उपलब्ध कराने का निर्देश दिए।

राजस्थान में बारिश का दौर जारी
राजस्थान में बारिश का दौर जारी है जहां पिछले 24 घंटे में अनेक जगह भारी बारिश दर्ज की गई। मौसम केंद्र के अनुसार, इस दौरान भीलवाड़ा में सबसे अधिक 8 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई जबकि फागी (जयपुर) में 5 सेंटीमीटर बारिश हुई। कई अन्य स्थानों पर भी अच्छी बारिश हुई। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों के दौरान बूंदी, झुंझुनू, सीकर, जयपुर, अजमेर, टोंक, भीलवाड़ा, दौसा, करौली, सवाई माधोपुर, पाली और गंगानगर सहित अनेक जिलों में भारी बारिश की संभावना जताई है।

शिमला में तीन मंजिला इमारत गिरी
दक्षिण पश्चिम मानसून ने शनिवार को हिमाचल प्रदेश में कहर बरपाया है। भारी बारिश के कारण तीन मंजिला इमारत ढह गई और जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। इसके अलावा अचानक आई बाढ़ में घाटी का एक पुल, फसलें और उपजाऊ भूमि भी बह गई। कुल्लू जिले में स्थित गडसा घाटी के जीवा नाला में अचानक आई बाढ़ से नदी के किनारे लगे पेड़ बह गए। कुल्लू के पुलिस अधीक्षक गुरुदेव शर्मा ने बताया कि अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। पचास भेड़ और बकरियां कथित तौर पर लापता हैं।