झुलसाती गर्मी से पूरे देश के लोगों का बुरा हाल, अभी और गर्मी बढ़ने के आसार

नई दिल्ली : मानसून की गति अरब सागर के पास कमजोर पड़ने की वजह से देश के अलग-अलग हिस्सों में अभी इसे पहुंचने में कुछ और दिन लग सकते हैं। उधर झुलसाती गर्मी ने पूरे देश के लोगों का बुरा हाल कर रखा है। सबकी निगाहें अब मानसून के आगमन पर टिकी हुई हैं। दिल्ली-एनसीआर में मानसून कब दस्तक देने वाला है, इस बारे में भी मौसम विभाग ने अपडेट जारी किया है। दरअसल, शुरूआती मानसून के कमजोर होने के कारण गर्मी का दौर थोड़ा और बढ़ गया है। पश्चिमोत्तर भारत एवं मध्य भारत लगातार लू की चपेट में हैं। मंगलवार को भी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में भयंकर गर्मी पड़ी। मौसम विभाग का कहना है कि अगले दो-तीन दिनों तक पश्चिमोत्तर और मध्य भारत के अधिकतम तापमान में किसी बड़े बदलाव की गुजाइंश नहीं है।

हालांकि उसके बाद एक पश्चिमी विक्षोभ आने से मौसम का पारा 2-3 डिग्री तक लुढक सकता है। जिससे लोगों को कुछ राहत महसूस होगी। जम्मू एरिया, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और पूर्वी मध्य प्रदेश में 7 से 9 जून के दौरान अलग अलग स्थानों पर लू की आशंका है। विभाग ने चेताया कि उत्तर प्रदेश, झारखंड और पश्चिम मध्यप्रदेश में बुधवार को लू का अहसास हो सकता है।

वहीं दक्षिण भारत की बात की जाए तो अरब सागर से दक्षिण प्रायद्वीप भारत की ओर पछुआ हवा चलने के कारण कर्नाटक, केरल और लक्षद्वीप में अगले पांच दिनों तक गरज के साथ बारिश या आसमान में बिजली चमक सकती है। दक्षिण पश्चिम मानसून तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल और बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पश्चिम हिस्सों से आगे बढ़ा है। फिलहाल करीब 1 सप्ताह तक मानसून की स्थिति कमजोर रहेगी, उसके बाद 15 जून से यह तेजी पकड़ेगा और दक्षिणी राज्यों में अच्छी बारिश होगी। दिल्ली-एनसीआर में भी मानसून 25 जून के आसपास पहुंच जाएगा और बारिशों का दौर शुरू हो जाएगा। विभाग का अनुमान है कि 11 जून को बारिश और आंधी आने की संभावना है। इससे लोगों को तेज गर्मी से राहत मिलेगी। मौसम विभाग ने यह भी कहा कि गुरुवार तक पंजाब, उत्तराखंड, हरियाणा और दिल्ली में लू चलने का अनुमान है। इसके अलावा अगले दो दिनों में ओडिशा, मध्य प्रदेश, जम्मू संभाग, हिमाचल प्रदेश, विदर्भ और उत्तर झारखंड में भी लू चलने की स्थिति बनी रहेगी।

बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत कई राज्यों में जबरदस्त गर्मी से किसी प्रकार की राहत नहीं मिली और सोमवार को कई इलाकों में पारा 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर बना रहा। मौसम विशेषज्ञों का अनुमान है कि ताजा पश्चिमी विक्षोभ के कारण सप्ताहांत में इस गर्मी से कुछ राहत मिल सकती है।