कानपुर दंगा: 35 आरोपी गिरफ्तार, 1000 लोगों पर केस, उपद्रवी के घरों पर चलेगा बुलडोजर

कानपुर । कानपुर के बेकनगंज (Beconganj of Kanpur) में नई सड़क पर शुक्रवार को नमाज के बाद बाजार बंद कराने को लेकर जमकर बवाल हुआ। जुमे की नमाज के बाद कानपुर (Kanpur) में हुए बवाल मामले में पुलिस ने अब तक 35 दंगाइयों को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही सीसीटीवी फुटेज (cctv footage) और मीडिया के जरिये मिल रही फुटेज के जरिये पुलिस उपद्रवियों को चिन्हित करने में लगी हुई है।

बता दें कि अब तक 40 लोगों को नामजद करते हुए 1000 अज्ञात लोगों पर गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। देर रात तक भारी संख्या में पुलिस-पीएसी, आरएएफ और आरआरएफ मार्च करता रहा। अब तक 40 उपद्रवियों को चिन्हित कर लिया गया है। बेकनगंज थाना क्षेत्र में जुमे की नमाज के बाद कुछ अराजक तत्व हिन्दुओं की दुकानें बंद कराने लगे। वहीं मुस्लिम लोग पहले से ही दुकानें बंद किये हुए थे, क्योंकि तीन दिन पहले ही मुस्लिमों के कई संगठनों ने बाजार बंद कराने का एलान किया था। हालांकि एक दिन पहले बाजार बंद को स्थगित कर पांच जून कर दिया गया था। इसके बावजूद कुछ लोग जबरदस्ती हिन्दुओं की दुकानें बंद करा रहे थे। इस पर जब विरोध हुआ तो पत्थरबाजी और बमबाजी शुरु हो गई।

बवाल की सूचना पर पहुंची पुलिस ने लाठीचार्ज किया लेकिन बवाल बढ़ता ही गया। इसके बाद जिलाधिकारी नेहा शर्मा और पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीना ने आलाधिकारियों के साथ कमान संभाली। बवाल तो शांत हो गया लेकिन स्थिति अभी भी तनावपूर्ण बनी हुई है। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज के जरिये दंगाइयों को चिन्हित किया जा रहा है और मामले को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी बराबर दिशा निर्देश दे रहे हैं।