टेस्ला के 10 फीसदी कर्मचारियों पर छंटनी की तलवार, मस्क ने दुनियाभर में नई भर्तियों पर लगाई रोक

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क का कर्मचारियों के प्रति सख्त रुख लगातार बना हुआ है और अब उनके नए एलान से इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला के कर्मचारियों में उथल-पुथल मची हुई है। दरअसल, टेस्ला के सीईओ मस्क ने कंपनी में कर्मचारियों की छंटनी को लेकर बड़ा बयान दिया है।

मस्क ने बताया ये बड़ा कारण
एलन मस्क ने कहा है कि वह टेस्ला में कार्यरत अपने कर्मचारियों की संख्या में 10 फीसदी की कटौती करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कंपनी में दुनियाभर में सभी नई भर्तियों पर भी रोक लगा दी है। इसका कारण उन्होंने वैश्विक अर्थव्यवस्था के वर्तमान हालातों को बताया है। मस्क ने कहा कि इस समय वैश्विक अर्थव्यवस्था की स्थिति को देखते हुए मुझे बहुत बुरा फील हो रहा है और इस तरह के फैसले लेने पड़ रहे हैं।

ई-मेल के जरिए दिया आदेश
रिपोर्ट के मुताबिक, टेस्ला के अधिकारियों को नियुक्तियों को रोकने के संबंध में आंतरिक ईमेल भेजा गया था। इसके बाद से कर्मचारियों में डर का माहौल पैदा हो गया है। गौरतलब है कि इस मामले में अभी टेस्ला की ओर से कोई टिप्पणी नहीं की गई है। इससे पहले हाल ही में एलन मस्क ने कर्मचारियों को लेकर और बड़ा बयान दिया था।

40 घंटे दफ्तर में काम जरूरी
हाल ही में टेस्ला के मालिक एलन मस्क की अपने कर्मचारियों को लिखी चिट्ठी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इसमें उन्होंने कर्मचारियों से कहा कि वे हफ्ते में कम से कम 40 घंटे दफ्तर में काम करते हुए गुजारें। उन्होंने कहा कि या तो कर्मचारी ऐसा करें या फिर कंपनी छोड़ दें। उन्होंने कहा कि इस समयावधि में दफ्तर में नहीं दिखते हैं, तो हम मान लेंगे कि आपने इस्तीफा दे दिया है।

खुद का उदाहरण देकर ये कहा
मस्क ने लिखा था कि वरिष्ठ कर्मचारियों के लिए अपनी उपस्थिति दिखाना बहुत जरूरी है। इसी लिए मैं ज्यादा से ज्यादा समय फैक्ट्री में गुजारता हूं, ताकि वहां काम करे लोग मुझे अपने साथ काम करता हुआ देखें। अगर मैं ऐसा नहीं करता, तो टेस्ला बहुत पहले ही दिवालिया हो गई होती।