Breaking News

वृद्ध महिलाओं के लिए वृंदावन में शुरू हुआ कृष्ण कुटीर

– प्रदेश व केंद्र सरकार के मध्य संचालन को लेकर हुआ एमओयू
– महिला कल्याण निदेशक मनोज राय ने किये हस्ताक्षर

लखनऊ : उत्तर प्रदेश सरकार तथा केंद्र सरकार के मध्य बुधवार को दिल्ली के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय में 1000 बेड के वृंदावन स्थित कृष्ण कुटीर के संचालन के सम्बंध में एमओयू पर हस्ताक्षर किये गये। सचिव, महिला एवं बाल विकास, भारत सरकार की उपस्थिति में आयोजित इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से निदेशक महिला कल्याण मनोज राय द्वारा हस्ताक्षर किये गये। वृंदावन स्थित कृष्णकुटीर लगभग 3.5 एकड़ में 54 करोड़ की लागत से तैयार कराया गया है जिसमें एक साथ 1000 वृद्ध अथवा विधवा महिलाओं को आवासित किये जाने की व्यवस्था की गई है। साथ ही यहाँ महिलाओं को फिजियोथेरेपी सहित आवश्यक जाचें, दवायें आदि की भी व्यवस्था की गई है। कृष्णकुटीर में महिलाओं के निशुल्क आश्रय, भोजन, स्वास्थ्य व चिकित्सा, देखरेख, जीवन कौशल, मनोरंजन, भ्रमण आदि का पूर्ण प्रबंध है। विभाग द्वारा निगरानी हेतु पूरे में परिसर सी0सी0टी0वी0 कैमरे लगायें गयें हैं।

आश्रय, भोजन, स्वास्थ्य व चिकित्सा, देखरेख के सभी संसाधन होंगे उपलब्ध

परिसर में 10-10 बेड के 100 कमरों सहित, मॉडयूलर रसोई, एकसाथ खाना खाने हेतु डाइनिंग हाल, ओपन थिएटर, प्रशिक्षण सभागार, आईसोलोशन रूम, आदि की व्यवस्था है। साथ ही परिसर में ही 150 किलोवाट क्षमता का सोलर प्लांट लगाकर उसे संचालित कराया जा रहा है। वर्तमान में लगभग 150 महिलायें यहां आवासित हैं। विभाग निरंतर प्रयासरत् है कि इन्हें कौशल विकास मिशन के साथ मिलकर नवीनतम ट्रेड्स में कौशल प्रशिक्षण भी दिया जाये। किसी भी जरूरतमंद वृद्ध महिला अथवा 18 वर्ष से ऊपर की ऐसी महिला जिसके पति की मृत्यु हो चुकी हो, उसे आश्रय हेतु यहां भेजा जा सकता है। इस अवसर पर महिला कल्याण निदेशक मनोज राय ने कहा कि प्रदेश सरकार और हमारा विभाग महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन हेतु प्रतिबद्ध है, कृष्णकुटीर इस ओर एक नया कदम है।

कृष्णकुटीर से संबंधित अधिक जानकारी हेतु यू0टयूब लिंक
https://youtu.be/oyEhPqZEn9Q
से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही यहां किसी जरूरतमद महिला को आश्रय दिलाने हेतु जिला प्रोबेशन अधिकारी, मथुरा से उनके मोबाइल नम्बर 7518024066 पर सीधा संपर्क किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *