Breaking News

आई2यू2 समूह से मध्य पूर्व एशिया में बढ़ा भारत का दखल

न्यूयॉर्क : भारत का कहना है कि नए बने आई2यू2 समूह के माध्यम से मध्य पूर्व एशिया में भारत का दखल बढ़ा है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में फिलिस्तीन मसले पर खुली चर्चा के दौरान संयुक्त राष्ट्र संघ में भारत के स्थायी प्रतिनिधि आर रविंद्र ने कहा कि आई2यू2 के माध्यम से भारत मध्य पूर्व व दक्षिण एशिया की उर्जाए खाद्य सुरक्षा व आर्थिक प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान देगा। इससे शांति व समृद्धि की राह भी खुलेगी। आई2यू2 समूह में भारतए इजराइलए संयुक्त अरब अमीरात ;यूएईद्ध और अमेरिका शामिल हैं। आर रविंद्र ने कहा कि आई2यू2 समूह की हाल ही में हुई वर्चुअल बैठक के दौरान भारतए इजराइलए यूएई और अमेरिका के बीच जलए ऊर्जाए परिवहनए अंतरिक्षए स्वास्थ्य और खाद्य सुरक्षा में संयुक्त निवेश बढ़ाने पर सहमति बनी थी। 14 जुलाई को बैठक के बाद जारी संयुक्त वक्तव्य में कहा गया था कि इस विशिष्ट समूह का उद्देश्य विश्व के सामने मौजूद चुनौतियों का सामना संयुक्त निवेश और जलए ऊर्जाए परिवहनए अंतरिक्षए स्वास्थ्य और खाद्य सुरक्षा के क्षेत्र में नई पहल के साथ करना है।

संयुक्त राष्ट्र संघ में अमेरिका की राजदूत लिंडा थॉमस ग्रीनफील्ड ने कहा कि राष्ट्रपति बाइडन ने इस बैठक के दौरान इजराइल और अन्य देशों के साथ क्षेत्र और बाहरए निकट सहयोग की संभावना जताई थी। रविंद्र ने इस दौरान इजराइल और फिलिस्तीन के बीच हालिया घटनाक्रमए विशेषकर हिंसक हमलोंए नागरिकों की हत्याओंए विध्वंसक और उकसावे की कार्रवाई पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि भारत हमेशा ऐसी घटनाओं का विरोध करता है और इन्हें पूरी तरह रोकने का हिमायती है। इजराइल और फिलिस्तीन के बीच राजनीतिक सहमति के बिना क्षेत्र में लंबे समय तक शांति और स्थायित्व संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि मध्य पूर्व में शांति प्रक्रिया को पुनर्जीवित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय को राजनीतिक प्रयास बढ़ाने चाहिए। उन्होंने राजनीतिक प्रक्रिया के माध्यम से इस मसले का जल्द समाधान निकालने की वकालत की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.