Breaking News

आज हर खास और आम करता दिखा शीर्षासन

योग दिवस की पूर्व संध्या पर 199546 लोगों ने विभिन्न स्थानों पर योगाभ्यास किया,गंगा घाटों से लेकर स्कूल-कालेजों, पार्को सहित सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थलों पर विशेष आयोजन किया जाएगा

-सुरेश गांधी

वाराणसी : देशभर में मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी योग दिवस को धूमधाम से मनाने की तैयारी है। गंगा घाटों से लेकर स्कूल-कालेजों, पार्को सहित सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थलों पर विशेष आयोजन किया जाएगा, जहां हर खास और आम योग मुद्रा में नजर आयेंगे। सरकार के एक-दो नहीं कई कबीना मंत्री भी योग दिवस के कार्यक्रमों में शामिल होंगे। योग दिवस पर जगह-जगह लाइव टेलीकास्ट की सुविधा भी उपलब्ध कराई जा रही है. जिसमें ग्राम पंचायत सहित नगरीय वार्ड के लोग सीधा कार्यक्रम से जुड़ सकेंगे. इसमें बच्चे, युवा, बुजुर्ग, महिलाएं, नेता, मंत्री यहां तक कि जवान से लेकर अधिकारी तक भी योगासन करेंगे। केन्द्रीय विद्यालय बीएचयू के प्रधानाचार्य दिवाकर सिंह ने कहा कि योग सिर्फ आसनों का समुच्चय नहीं है बल्कि जीवन पद्धति है, योग शारीरिक, मानसिक और आत्मिक रूप से स्वस्थ रहने की वैज्ञानिक पद्धति है.

इस दिन को उत्सव के रूप में मनाने के लिए जिला प्रशासन ने तैयारियां पूरी कर ली है। योग अभ्यास के लिए वाराणसी के नमो घाट को आइकान के रूप में चयन किया गया है। मुख्य कार्यक्रम जिसमें प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति तथा प्रभारी मंत्री जयवीर सिंह उपस्थित रहेंगे। सोमवार को सभी गंगा घाटों पर मेगा रिहर्सल की गई। मुख्य आकर्षण का केंद्र नमो घाट (खिड़कियां घाट) रहा। जहां बड़ी संख्या में लोगों ने प्रतिभाग किया। क्षेत्रीय आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी डॉ भावना द्विवेदी ने सभी से अपील की है कि 21 जून मंगलवार को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर बढ़-चढ़ के अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें। योग हमारी सनातन संस्कृति का प्रतीक है। जिसे आज पूरे विश्व ने स्वीकार किया है। आठवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में मनाए जा रहे अमृत योग सप्ताह के अंतर्गत हर घर हर क्षेत्र में योग सप्ताह सफलतापूर्वक मनाया गया है। नमो घाट पर आकर्षण का केंद्र बिंदु गंगा नदी में नौकाओ से 75 नंबर का आकार बनाया जाना होगा।

बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने “मन की बात“ कार्यक्रम में योग के महत्व पर बल देते हुए इसको “वसुधैव कुटुंबकम“ की भावना को मजबूती प्रदान करने वाला तथा पूरी मानवता को एक साथ जोड़ने के एक सशक्त माध्यम के रूप में रेखांकित किया है। जिसके दृष्टिगत आठवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की थीम “मानवता के लिए योग“ घोषित की गई है। स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ के पावन अवसर पर पूरे देश में मनाए जा रहे “आजादी का अमृत महोत्सव- 2022“ के अवसर पर देश के 25 करोड़ लोगों को योग से जोड़े जाने का संकल्प लिया गया है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश से 3.5 करोड़ लोगों को योग से जोड़ा जाएगा। 14 से 20 जून तक अमृत योग सप्ताह जनपद में मनाया गया। जिसके तहत नगर निगम के वार्ड, नगर पालिका, नगर पंचायत, तहसील, ब्लाक, ग्राम पंचायत, महाविद्यालय, चिकित्सा शिक्षा महाविद्यालय, उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, माध्यमिक विद्यालय, प्राथमिक विद्यालय, आयुष चिकित्सालयो, हेल्थ वैलनेस सेंटर, योग वैलनेस सेंटर आदि स्थानों पर रोजाना योग के सामूहिक अभ्यास कार्यक्रम बड़े पैमाने पर आयोजित किए गये।

अमृत योग सप्ताह के अंतर्गत सोमवार को कुल 199546 लोगों ने विभिन्न स्थानों पर योगाभ्यास किया। बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 46716 अध्यापकों एवं छात्र छात्राओं, माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट स्कूलों में 27585 अध्यापकों एवं छात्र छात्राओं, बाल विकास विभाग द्वारा आंगनवाड़ी केंद्रों पर आयोजित योगाभ्यास कार्यक्रम में 43673 आंगनवाड़ी कार्यकत्री, सहायिका, बच्चे व अभिभावक, ग्राम विकास एवं पंचायती राज विभाग द्वारा ग्राम पंचायतों में 59546, उपायुक्त एनआरएलएम द्वारा आयोजित ग्राम पंचायतों में 5044 महिला समूह सदस्य एवं स्थानीय लोग, युवा कल्याण विभाग द्वारा ग्राम पंचायतों में आयोजित कार्यक्रम में 603 नवयुवक मंगल दल एवं स्थानीय लोगों द्वारा, नागरिक सुरक्षा द्वारा प्रमुख गंगा घाटों पर 760, नगर निगम के विभिन्न वार्ड, नगर पंचायत गंगापुर एवं नगर पंचायत सुजाबाद में 14867, गायत्री परिवार रचनात्मक ट्रस्ट द्वारा पंचांगनी अखाड़ा घाट, रानी घाट, निषाद राज घाट व रेलवे स्टेशन पर गायत्री परिवार के सदस्य व स्थानीय 456 लोग, क्षेत्रीय क्रीडा अधिकारी द्वारा सिगरा स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में 210 खिलाड़ी व स्थानीय लोग तथा कृषि विभाग द्वारा राजकीय कृषि बीज भंडार पिण्डरा व सेवापुरी में 86 कार्मिक व कृषिकों सहित कुल 199546 लोगों ने योगाभ्यास किया। इस दौरान लोगों ने अलोम विलोम, प्राणायाम, सूर्य नमस्कार, आसन, मुद्रा, प्रत्याहार, प्राणायाम, ध्यान और समाधि आदि प्रमुख योगासन किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *