Breaking News

अग्निवीरों को 4 साल बाद प्राथमिकता से मिलेगी नियुक्ति : योगी

विपक्षी दल नौजवानों को कर रहे गुमराह, वो मझधार में छोड़कर गायब हो गए, जरुरत पड़ने पर बुलडोजर भी चलता रहेगा

-सुरेश गांधी

आजमगढ़ : आजमगढ़ के चुनावी मैदान में रविवार को सीएम योगी आदित्यनाथ उतरे। उन्होंने भाजपा उम्मीदवार दिनेश लाल यादव निरहुआ के लिए वोट मांगा। साथ ही, इस दौरान अग्निपथ विरोध पर काफी कड़ा रुख अपनाया। उन्होंने कहा कि कुछ लोग युवाओं को अग्निपथ के नाम पर गुमराह कर रहे हैं। जबकि देश के युवाओं के लिए अग्निपथ योजना की पूरी दुनिया स्वागत कर रही है। सीएम योगी ने पहले चक्रपानपुर क्षेत्र और बिलरियागंज क्षेत्र में चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया। दोनों स्थानों पर सीएम योगी आदित्यनाथ युवाओं के बीच अग्निपथ योजना को लेकर भ्रम फैलाए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि जब आजमगढ़ को सहारे की जरूरत थी, तो मझधार में छोड़कर गायब हो गए। योगी ने कहा कि 10 लाख नौजवानों को डेढ़ साल के भीतर सीधे-सीधे नौकरी का लाभ मिलने वाला है. इन युवाओं को डेढ़ वर्ष के अंदर 5 हजार लोगों को नौकरी दी जाएगी. चार ऑर्गेनिक ट्रेनिंग के बाद चार वर्ष का उनका जो कार्यकाल होगा, उसमें से 25 फीसदी आर्मी, वायुसेना और नौसेना में जाएंगे. उन्होंने कहा कि पैरामिलिट्री फोर्स, असम राइफल्स और अन्य बलों में उनके लिए रिजर्वेशन की घोषणा की गई है. उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और अन्य सरकारों ने कहा है कि जब अग्निवीर आएंगे तो उन्हें सेवाओं में प्राथमिकता मिलेगी. सीएम योगी ने कहा कि चार साल बाद जब अग्निवीर आएंगे तो हम यूपी पुलिस और अन्य सेवाओं में प्राथमिकता के आधार पर नियुक्ति देंगे।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने सपा पर हमला बोलते हुए कहा कि सैफई खानदान से भगवान बचाए. सपा सिर्फ सैफई को जिम्मेदारी देना चाहती है. सपा, बसपा को जनता ने कई बार मौका दिया, लेकिन जनता को इन्होंने धोखा दिया. इनके एजेंडे में स्वयं का विकास है और गलत कार्य करना है. यह लोग उत्तर प्रदेश के राहु-केतु हैं. हमने सिर्फ विकास की बात की और उसे पूरा कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि आजमगढ़ को आतंकगढ़ मत बनने दीजिएगा. ईश्वर ने आपको अवसर दिया है. यहां अब घटनाएं नहीं होती. शिब्ली कॉलेज में अजीत राय की हत्या हुई. उस समय बसपा की सरकार थी. गोभक्त सुंदर यादव की हत्या हो गई थी, लेकिन कुछ नहीं हुआ. इस बार आजमगढ़ को विकास को गति मिल सके इसलिए प्रत्याशी को जिताने की जिम्मेदारी आपकी है और विकास की जिम्मेदारी हमारी. मुख्यमंत्री ने कहा कि सपा ने दलित युवा का अपमान किया है। लोकसभा उपचुनाव में पहले सुशील आनंद को टिकट दिया फिर टिकट वापस लेकर अपने परिवार के सदस्य को ही यहां से उतार दिया।

कलाकारों का होना चाहिए सम्मान

सीएम योगी ने कहा कि हमने गोरखपुर से सीट छोड़ी तो एक कलाकार रवि किशन को चुनाव लड़वाया. वह जीते भी, गोरखपुर का विकास भी हुआ. निरहुआ जीतेगा तो यहां का भी विकास होगा. आप लोग घर जाएंगे, निरहुआ के लिए वोट मांगेंगे. किसानों से वोट मांगेंगे. विकास और सुरक्षा का काम मेरे ऊपर छोड़ दे. उन्होंने कहा कि कलाकार का सम्मान होना चाहिए. भोजपुरी कलाकार रवि किशन को गोरखपुर तो निरहुआ को यहां से लाए हैं. दिनेश लाल यादव निरहुआ तो आपमें से कई लोगों को फिल्मों में काम करने के लिए आमंत्रित कर देंगे। युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि हम युवाओं के लिए कई प्रकार के अवसर लाने जा रहे हैं। प्रदेश में फिल्म सिटी के निर्माण की बात करते हुए कहा कि देश और दुनिया का यह बेहतरीन फिल्म सिटी होगा। आजमगढ़ से पूर्व सांसद अखिलेश यादव पर संकेतों में हमला करते हुए योगी ने कहा कि जिन लोगों पर आपने भरोसा किया, उन्होंने इस क्षेत्र का विकास नहीं किया, निरहुआ ही इस क्षेत्र को आगे ले जाने का कार्य करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि आजमगढ़ को बहुत जल्दी हवाई सेवा दिया जा रहा है. पूर्वांचल एक्सप्रेसवे दिया है, साथ में गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे बना रहे हैं. यह काम पहले से भी हो सकता था, लेकिन जिन्हें अपनों ने सीएम बनाया वह परिवार का विकास करने में लगे रहे. आजमगढ़ में अखिलेश संकट के दौरान नहीं आए. वह करोना के संकट में आपसे मिलने जिले में 3 बार मिलने आए. जब देश संकट में था तब अखिलेश सहयोग नहीं गुमराह कर रहे थे.

विभूति होंगे अग्निवीर नौजवान

सीएम योगी ने कहा कि चार साल की ट्रेनिंग के बाद निकलने वाले नौजवान हमारे लिए विभूति होंगे। यह हमारे लिए एक गिफ्ट होगा। उनके पास ट्रेनिंग, धैर्य और अनुशासन होगा। विपरीत संकट के समय देश के लिए क्या जज्बा होना चाहिए, यह भाव होगा। 17 साल में अग्निवीर बनने वाला 21 साल में जब यूनिफॉर्म पहनकर अपने घर में आएगा तो घर के लोग भी अपने नौजवान पर गर्व करेंगे। परिवार के लोग गौरव की अनुभूति करेंगे कि हमारा लड़का हाईस्कूल और इंटर करने के बाद अपना रास्ता खुद बना रहा है। अग्निवीरों को तमाम तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराने की बात कही गई है। विपक्ष पर हमलावर योगी ने कहा कि नौजवानों के जीवन के साथ जिन लोगों ने खिलवाड़ किया था, आज एक बार फिर वही लोग उनके भविष्य के साथ खेल रहे हैं। सीएम योगी ने कहा कि वर्ष 2017 से पहले क्या होता था? कोई नौकरी निकलती थी और पूरा खानदान वसूली पर निकल जाता था।
आजमगढ़ का नाम

आजमगढ़ अब ‘आर्यमगढ़’ होगा

अंडरवर्ल्ड तक कनेक्शन के लिए फेमस उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले का नाम बदलने को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने इशारा कर दिया है। अब आजमगढ़ को आतंक का गढ़ नहीं कहा जाता है। उन्होंने कहा आजमगढ़ को सपा की सरकार ने आतंक का गढ़ बना दिया था, बसपा भी उससे कभी अपने आपको मुक्त नहीं कर पाई, लेकिन आजमगढ़ को विकास के साथ जोड़ने का कार्य बीजेपी की डबल इंजन की सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि आजमगढ़ को विकास के माध्यम से आर्यमगढ़ बनाने की प्रक्रिया से जोड़ने आया हूं, आप अवसर को चूकिएगा मत, ईश्वर ने आपको एक अवसर दिया है। उन्होंने कहा, बहन जी के हाथी का पेट इतना बड़ा है कि यह कभी नहीं भरता है। यह गरीबों का राशन और युवाओं के लिए रोजगार भी खाता था। उन्होंने कहा कि डबल इंजन की सरकार ने सभी बाधाओं को दूर किया और जब लगा कि ज्यादा जकड़न है तो उस जकड़न को दूर करने के लिए बुलडोजर का भी सहारा लिया है। योगी ने आजम खान पर तंज कसते हुए कहा, एक नेता कल आए थे जो रोना रो रहे थे, लेकिन याद रखिए जो गरीबों की संपत्ति पर कब्जा करेगा उस पर रियायत नहीं होगी। जो नौजवानों के भविष्य से खेलेगा, जो बहू बेटियों की इज्जत से खेलेगा उसके साथ रियायत नहीं बरती जाएगी, चाहे वह कोई भी हो। जरूरत पड़ने पर बुलडोजर भी चलता रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *