Breaking News

21वीं सदी में भारत के विकास के लिए महिलाओं का सशक्तिकरण जरूरी : प्रधानमंत्री

वडोदरा/नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21वीं सदी में भारत के विकास के लिए महिलाओं के सशक्तिकरण को अनिवार्य बताते हुए कहा कि डबल इंजन सरकार ने पिछले 8 वर्षों में महिलाओं को सशक्त बनाया है। उन्होंने कहा कि आज सेना से लेकर खदान तक महिला कल्याण को ध्यान में रखकर नीतियां बनाई जा रही हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को गुजरात के वडोदरा में 21,000 करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न विकास परियोजनाओं का डिजिटल रूप से उद्घाटन और शिलान्यास किया। इसमें 16,000 करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न रेलवे परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी शामिल है। उन्होंने कहा कि ये प्रोजेक्ट गुजरात के विकास से भारत का विकास की प्रतिबद्धता को बल देने वाले हैं।

वडोदरा मातृशक्ति कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “21वीं सदी के भारत के तेज विकास के लिए महिलाओं का तेज विकास, उनका सशक्तिकरण उतना ही जरूरी है। आज भारत, महिलाओं की आवश्यकताओं, उनका आकांक्षाओं को ध्यान में रखते हुए योजनाएं बना रहा है, निर्णय ले रहा है।” उन्होंने कहा कि सरकार ने महिलाओं को उनकी पसंद का करियर चुनने के लिए सभी प्रतिबंध हटा दिए और उनके लिए सभी द्वार खोल दिए हैं।

गुजरात के अपने मुख्यमंत्री काल के दौरान कुपोषण की चुनौती का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि दो दशक पहले जब गुजरात ने उन्हें सेवा का अवसर दिया तो कुपोषण यहां एक बहुत बड़ी चुनौती थी। तब से हमने एक के बाद एक इस दिशा में काम करना शुरु किया जिसके सार्थक परिणाम आज हमें देखने को मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि गुजरात में महिलाओं को हर स्तर पर आगे बढ़ाने के लिए, निर्णय लेने की जगहों पर अधिक अवसर देने के लिए हमने प्रयास किए हैं। महिलाओं की प्रबंध क्षमता को समझते हुए ही गांव से जुड़े अनेक प्रोजेक्ट्स में बहनों को नेतृत्व की भूमिका दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *