Breaking News

बवाल के बीच ‘अग्निवीरों’ की भर्ती 24 जून से शुरू करने की घोषणा

2 दिन में http://joinindianarmy.nic.in पर जारी होगी अधिसूचना
देश में राष्ट्रवादी विचार विकसित करना ‘अग्निपथ योजना’ का मुख्य उद्देश्य

नई दिल्ली : तीनों सेनाओं में भर्ती की नई ‘अग्निपथ योजना’ पर मचे देशव्यापी बवाल के बीच 24 जून से ‘अग्निवीरों’ की भर्ती प्रक्रिया शुरू करने का ऐलान किया गया है। सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने कहा कि सेना को उम्र में एकमुश्त छूट देने का सरकार का फैसला मिल गया है और जल्द ही भर्ती प्रक्रिया की घोषणा की जाएगी। दूसरी तरफ वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने बताया कि अगले शुक्रवार यानी 24 जून से भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी। सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी ने तीनों सेनाओं में भर्ती के लिए 14 जून को ऐतिहासिक ‘अग्निपथ’ योजना को मंजूरी दी थी। इसके बाद नई दिल्ली के नेशनल मीडिया सेंटर में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, सेना प्रमुख जनरल पांडे, वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी और नौसेना प्रमुख आर. हरि कुमार ने संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेन्स करके इस योजना के बारे में घोषणा की थी।

इस योजना के तहत भारतीय युवाओं को ‘अग्निवीर’ के रूप में चार साल के लिए सशस्त्र सेवाओं में शामिल होने का मौका दिया जाएगा। सेनाओं की ट्रेनिंग देने के बाद इन्हें पाकिस्तान-चीन सीमा पर तैनात किया जायेगा। सशस्त्र सेनाओं से निकलने के बाद इन ‘अग्निवीरों’ को केंद्र सरकार के मंत्रालयों और राज्य सरकारों की नौकरियों में प्राथमिकता दी जाएगी। इस योजना की घोषणा के दूसरे दिन से ही देशभर में विरोध शुरू हो गया। इस बीच गुरुवार देररात केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया। सरकार ने योजना के लिए अधिकतम उम्र सीमा 21 वर्ष से बढ़ाकर 23 वर्ष कर दी है। अब 23 वर्ष की उम्र तक के युवा इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। योजना की घोषणा किए जाने के वक्त भर्ती के लिए सरकार ने साढ़े 17.5 साल से 21 साल तक की आयु निर्धारित की थी। इसके पीछे तर्क दिया गया कि कोरोना के चलते दो साल तक सेना में भर्ती नहीं होने के चलते आयु सीमा में इस साल छूट दी गई है। अब अधिकारियों को छोड़कर सभी भर्तियां अग्निपथ योजना के तहत ही की जाएंगी। इस साल 40 हजार भर्तियों से शुरुआत की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *