खुलासा: 4 लोगों की हत्या करने के बाद प्रेमी को भी मार देती पायल, क्राइम सीरियल देख बनाया था खौफनाक प्लान

नोएडा: ग्रेटर नोएडा में दादरी के बड़पुरा गांव में अनजान युवती हेमा चौधरी की हत्या करने और आत्महत्या की साजिश रचने वाली पायल भाटी और उसके प्रेमी अजय ठाकुर को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में खुलासा हुआ है कि पायल भाटी चार और लोगों की हत्या करने के बाद अपने प्रेमी अजय को भी मौत के घाट उतारने वाली थी। वह सिर्फ अपने माता-पिता की मौत का बदला लेने के लिए अजय के साथ प्यार का नाटक कर रही थी। पायल ने खुलासा किया कि वह अजय ठाकुर के साथ मिलकर पहले अपने भाई की पत्नी स्वाति, साले कोशेंद्र, गोलू और बिचौलिए सुनील की हत्या करना चाहती थी।

इसके लिए उसने दो बार सुनील के घर की रेकी भी की थी। अजय को भरोसे में लेने के लिए ही पायल ने 27 नवंबर को उससे शादी की थी, ताकि वह परिवार को छोड़कर हत्या करने में उसका साथ दे। अजय ने ही तमंचा और कारतूस खरीदे थे।
इस मामले में पुलिस ने सबसे पहले अजय के एक दोस्त को हिरासत में लेकर पूछताछ की। उसने पुलिस को अजय तक और फिर अजय ने पायल तक पहुंचाया। पुलिस ने दोनों से वारदात में इस्तेमाल चाकू सहित अन्य सामान बरामद किया है।

सेना में जाना चाहती थी पायल : पायल भाटी ने वर्ष 2022 में ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की थी। वह सेना में जाना चाहती थी। इसके लिए पायल ने दो बार सेना भर्ती का फॉर्म भी भरा था। उसने बताया कि वह पांचों लोगों की हत्या करने के बाद दूसरे शहर में शिफ्ट होकर सेना में भर्ती की तैयारी करती। सेना में जाने के लिए पायल ने अपने मैरिज सर्टिफिकेट पर बुलंदशहर के बिशा कॉलोनी का फर्जी पता भी लिखवाया था। यहां पर ही वह अजय के साथ रह रही थी।

आरोपी अजय भी धोखा दे रहा था
थाना प्रभारी अनिल राजपूत ने बताया कि अजय ठाकुर भी पायल को धोखा दे रहा था। अजय ने पायल को अपने शादीशुदा होने की बात नहीं बताई थी। वारदात का खुलासा होने के बाद ही पायल को उसके शादीशुदा होने का पता चला। अजय अपने घर से 12 नवंबर से लापता था। परिजनों ने सिकंदराबाद थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

फॉरेंसिक टीम ने घर से साक्ष्य जुटाए
बिसरख कोतवाली पुलिस और फॉरेंसिक टीम ने बड़पुरा गांव स्थित पायल के घर पहुंचकर कुछ साक्ष्य जुटाए हैं। वारदात के 18 दिन बाद भी पायल के घर की दीवार पर खून के छींटे मिले। फॉरेंसिक टीम ने इसके नमूने एकत्र किए हैं। इसे जांच के लिए लैब भेजा जाएगा।

ये सामान बरामद
एडीसीपी साद मियां खां ने बताया कि पायल और अजय को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने उनसे चाकू, तमंचा, 8 कारतूस, हेमा का मोबाइल, घड़ी, हेयर क्लिप, अजय का मोबाइल, एक बाइक, सुसाइड नोट और अजय द्वारा की गई शादी का सर्टिफिकेट बरामद किए हैं।

सिर्फ बदला लेना चाहती थी
हिरासत में पायल से हेमा हत्याकांड के बारे में पूछा तो उसने कहा कि उसकी हत्या का उसे कोई पछतावा नहीं है। माता-पिता की मौत को लेकर उसने हत्या का बदला लेना तय किया। इसके लिए उसने क्राइम सीरियल देखे थे।

यह है मामला
दादरी थाना क्षेत्र स्थित बड़पुरा गांव की रहने वाली पायल भाटी के माता-पिता ने मई 2021 में जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी। इसको लेकर पायल के भाई की पत्नी स्वाति, साले कोशेंद्र, गोलू और बिचौलिये सुनील के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज कराया गया था। पायल इन चारों को माता-पिता की मौत का जिम्मेदार मानती थी। उसने चारों की हत्या करने के लिए अपनी मौत का ड्रामा रचा और प्रेमी अजय के साथ मिलकर अनजान युवती हेमा की हत्या कर दी। हेमा की पहचान छिपाने के लिए सरसों का तेल गर्म करके घाव पर डाल दिया।

पति की प्रताड़ना से तंग होकर 2018 में नोएडा आई थी हेमा चौधरी
मृतका हेमा चौधरी भी शादीशुदा है। वर्ष 2012 में उसकी शादी मथुरा छोली निवासी विष्णु के साथ हुई थी। उसका एक सात साल का बेटा आदित्य है। शादी के कुछ साल बाद विष्णु ने हेमा के साथ मारपीट शुरु कर दी है। 2018 में विष्णु ने हेमा को पीट पीटकर अधमरा कर दिया था। वह तभी मथुरा छोड़कर अपनी मां और छोटी बहन के साथ नोएडा आ गई थी। वह सूरजपुर में किराए पर रहती थी।

अंतिम बार छोटी बहन से की बात
हेमा ने हत्या से पहले अंतिम बार 12 नवंबर की रात करीब साढ़े नौ बजे अपनी छोटी बहन से बात की थी। एक बाइक सवार ने हेमा को लिफ्ट देकर सूरजपुर गोल चक्कर पर छोड़ा था। इसके बाद हेमा अजय के पास पहुंची। अजय ने उस दिन हेमा को चार बार कॉल किया। अजय बाइक से हेमा को बढ़पुरा में पायल के घर लेकर पहुंचा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *