Breaking News

अंकिता हत्‍याकांड: FIR में सुधार, पॉक्सो एक्ट के तहत शाहरुख पर कसेगा शिकंजा

रांची। झारखंड के दुमका (Dumka of Jharkhand) जिले के नगर थाना क्षेत्र की जरूवाडीह निवासी इंटरमीडिएट की छात्रा अंकिता सिंह (Ankita Singh) की इलाज के दौरान रिम्स में मौत हो गई, हालांकि आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आपको बता दें कि अंकिता नाबालिग थी। 23 अगस्त को एकतरफा प्यार में पागल पड़ोसी युवक शाहरुख हुसैन ने खिड़की से अंकिता पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी थी। इस घटना में वह गंभीर रूप से झुलस गई थी। पहले उसका इलाज दुमका के फूलो झानो मेडिकल कॉलेज अस्पताल में चला। बाद में उसे रिम्स रेफर किया गया। रिम्स में शनिवार देररात उसकी मौत हो गई।

वहीं अब बताया जा रह है कि झारखंड के दुमका में अंकिता की हत्या के बाद दर्ज प्राथमिकि में सुधार किया गया है। इस प्राथमिकी को सुधारने के बाद अब अंकिता की उम्र 15 साल 9 माह कर दी गई है। इससे पहले अंकिता की उम्र 19 साल दर्ज की गई थी। अंकिता की उम्र को सही किये जाने के बाद अब आरोपी शाहरुख पर पॉक्सो एक्ट के तहत भी केस दर्ज किया गया है।

दरअसल, अंकिता हत्याकांड में पीड़िता की उम्र 19 साल दर्ज की गई थी। जिसे लेकर काफी विवाद हो रहा था। इसके बाद मंगलवार को दुमका नगर थाना की पुलिस ने अंकिता की उम्र में सुधार कर इस विवाद पर विराम लगाने की कोशिश की। पुलिस के अधिकृत सूत्रों के मुताबिक, अंकिता के सर्टिफिकेट में उसकी जन्मतिथि 26 नवंबर 2006 है। इसी आधार पर अब उसके उम्र में सुधार किया गया है।

बता दें कि जब अंकिता जिंदा थी तब उसके बयान के आधार पर हत्या के प्रयास का धारा 307 लगाई गई थी। लेकिन उसकी मौत के बाद भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत इसे हत्या के केस में तब्दील किया गया। अब इस मामले में आईपीसी की धारा 302, 34 और 120 बी के साथ पॉक्सो एक्ट की दारा 12 के तहत केस चलेगा।

जानकारी के मुताबिक, बाल कल्याण समिति दुमका के बेंच ऑफ मजिस्ट्रेट ने मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए केश में पॉक्सो एक्ट की धाराएं जोड़ने की अनुशंसा एसपी से की है। जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी प्रकाश चंद्र अंकिता के घर गये थे। यहां उन्होंने लड़की के उम्र प्रमाण पत्र संबंधी दस्तावेजों की जानकारी ली थी। जिसमें लड़की के नाबालिग होने का पता चला।

अंकिता के परिजन अविनाश का आरोप है कि करीब 22 दिन पहले आरोपित ने घर पर पत्थरबाजी की थीष इससे खिड़की के शीशे टूट गये थे। वह लगातार अंकिता को तंग कर रहा था। अंकिता दो बहनें और एक भाई है। पिता मार्केटिंग का काम करते है। अंकिता की मां करीब डेढ़ वर्ष पहले गुजर गई थीं।

अविनाश ने आरोप लगाया है कि अंकिता ने इस लड़के से दोस्ती करने से इनकार कर दिया था। अंकिता की सहेली से शाहरुख हुसैन ने उसका मोबाइल नंबर हासिल कर लिया था। वह लगातार उस पर दोस्ती करने का दबाव बना रहा था। उसने दोस्ती न करने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी। टाउन थाना पुलिस का कहना है कि आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।