Breaking News

‘जुबान खींच लूंगी’, महिला कांग्रेस नेता की विधायक टी राजा को धमकी

हैदराबाद: विवादित टिप्पणी करने को लेकर नुपूर शर्मा के बाद अब विधायक टी राजा सिंह भी लोगों के निशाने पर आ गए हैं. बीजेपी से निलंबित विधायक के खिलाफ हैदराबाद में जमकर विरोध प्रदर्शन हो रहा है. इस बीच कांग्रेस की एक महिला नेता का विवादित वीडियो सामने आया है, जिसमें वह टी राजा को धमकी दे रही है. दरअसल, विवादित बयान के चलते पुलिस ने टी राजा सिंह को गिरफ्तार कर लिया है. इस बीच कांग्रेस की महिला नेता आयशा फरहीन का उन्हें धमकी देने वाला वीडियो सामने आया है.

वीडियो में आयशा विधायक टी राजा सिंह को धमकी देती हुए कहती हैं, “मैं आयशा फरहीन ओपन चैलेंज करती हूं. तेरी टांग पर टांग रखकर चीर दूंगी. तुम्हारी जुबान खींच लूंगी. तुमने (टी राजा) हमारा दिमाग खराब कर दिया है. तुम दिखोगे तो ऐसा हश्र करुंगी कि तुम्हारे घरवाले खुद तुम्हें नहीं पहचानेंगे. मैं उन सभी को धन्यवाद देती हूं जिन्होंने राजा सिंह की गिरफ्तारी के लिए प्रदर्शन किया था.

गुरुवार को दोबारा गिरफ्तार हुए टी राजा
बता दें कि विवादित टिप्पणी को लेकर हैदराबाद पुलिस ने विधायक टी राजा को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया था. पुलिस ने टी. राजा को भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए (विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना), 295 (धर्म का अपमान करने के इरादे से पूजा स्थल को चोट पहुंचाना या अपवित्र करना) और 505 (सार्वजनिक शरारत) के तहत गिरफ्तार किया था. हालांकि इसके कुछ घंटे बाद ही उन्हें कोर्ट से जमानत मिल गई थी. इसके खिलाफ हैदराबाद में जमकर विरोध प्रदर्शन हुआ था. जिसके बाद पुलिस ने उन्हें फिर से गिरफ्तार कर लिया.

राजा सिंह का जन्म 15 अप्रैल 1977 को हैदराबाद में हुआ था. उनकी पत्नी का नाम ऊषा बाई है. उनके तीन बेटे और एक बेटी है. 42 साल के राजा सिंह ने तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) से अपनी राजनीति की शुरुआत की थी. वो 2009 से 2014 तक ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन में कॉर्पोरेटर थे. राजा सिंह 2014 के चुनाव से पहले टीडीपी छोड़कर बीजेपी में आ गए. 2014 में उन्होंने पहली बार विधानसभा चुनाव जीता. उसके बाद 2018 में भी वो गोशमहल से चुनाव जीतने में कामयाब रहे.

2015 में राजा सिंह एक पुलिस कॉन्स्टेबल के साथ बदसलूकी कर विवादों में आ गए थे. उनका वीडियो वायरल हुआ था. शादी समारोह में जब पुलिस ने रात के 2 बजे बीजेपी नेता को तेज आवाज में म्यूजिक बनाने से रोका, तो राजा सिंह ने पहले तो उसके साथ गाली-गलौज की और फिर धक्का-मुक्की की. इस मामले में उनके खिलाफ केस भी दर्ज किया गया था. राजा सिंह खुद को ‘गौ सेवक’ बताते हैं. 2016 में जब हैदराबाद की उस्मानिया यूनिवर्सिटी में बीफ फेस्टिवल होना था, तब उन्होंने धमकी दी थी कि गौ माता के लिए वो ‘मरने और मारने’ के लिए भी तैयार हैं.