Breaking News

ग्रेटर नोएडा में पहली बार अंडरग्राउंड मेट्रो, जेवर तक के लिए DPR तैयार

ग्रेटर नोएडा ; गौतमबुद्ध नगर जिले में पहली बार मेट्रो भूमिगत लाइन में दौड़ेगी। नॉलेज पार्क-2 ग्रेटर नोएडा से जेवर तक दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने डीपीआर रिपोर्ट तैयार कर ली है। 35.44 किलोमीटर के लंबे इस कॉरिडोर में 4.18 किलोमीटर मेट्रो लाइन अंडरग्राउंड होगी। इसको बनाने में डेढ़ वर्ष लगेगा। यमुना प्राधिकरण की 24 अगस्त की बोर्ड बैठक में इस रिपोर्ट को पेश किया जाएगा।

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर को मेट्रो के जरिए जोड़ने की तैयारी है। यीडा ने नॉलेज पार्क-2 ग्रेटर नोएडा से जेवर तक की डीपीआर बनवा ली है। यह डीपीआर डीएमआरसी ने बनाई है। बोर्ड बैठक में इस रिपोर्ट को प्रस्तुत किया जाएगा। बोर्ड की अनुमति के बाद इसे शासन को भेजा जाएगा। वहां से फंडिंग पैटर्न में तय होगा। रिपोर्ट के मुताबिक, ग्रेटर नोएडा से जेवर तक छह स्टेशन बनाए जाएंगे। सेक्टर 29 से एयरपोर्ट स्टेशन तक मेट्रो अंडर ग्राउंड स्टेशन होगा। इस रूट पर नॉलेज पार्क-2, सेक्टर-18, सेक्टर-20, सेक्टर-21 (फिल्म सिटी), सेक्टर-29 और एयरपोर्ट में स्टेशन बनाया जाएगा।

31.26 किलोमीटर एलिवेटेड लाइन बनेगी

ग्रेनो से जेवर तक का यह कॉरिडोर 35.44 किलोमीटर लंबा होगा। इसमें 4.18 किलोमीटर भूमिगत लाइन होगी, जबकि 31.26 किलोमीटर एलिवेटेड लाइन बनाई जाएगी। गौतम बुद्ध नगर में पहली बार भूमिगत लाइन का प्रस्ताव है।

18 महीने का समय लगेगा

डीपीआर रिपोर्ट बताती है कि सेक्टर 29 से एयरपोर्ट तक अंडर ग्राउंड मेट्रो लाइन बनाई जाएगी। इस कॉरिडोर के बनाने में 18 महीने का समय लगेगा। निर्माण पर 5329 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।