Breaking News

आंखों के सामने जुड़वां बच्चों ने तोड़ा दम, क्यों लाचार देखती रही गई मां; डोली बनाकर पहुंचाया अस्पताल

पालघर : देशभर से लाचार स्वास्थ्य सिस्टम की कई बार ऐसी दर्दनाक कहानियां सामने आ जाती हैं, जिन्हें सुनकर दिल दुखी हो जाता है। ऐसा ही एक मामला महाराष्ट्र के पालघर जिले से सामने आया है, जहां एक गर्भवती महिला की रास्ते में ही डिलिवरी हो गई और इलाज के अभाव में उसके जुड़वां बच्चों ने उसकी आंखों के सामने ही दम तोड़ दिया। दरअसल गांव से शहर की ओर से जाने वाला रास्ता खराब था और इसके चलते वाहन भी नहीं मिल सका। ऐसे में परिजन डोली बनाकर महिला को ले जाने लगे और रास्ते में ही डिलिवरी हो गई।

यह घटना महाराष्ट्र के पालघर जिले की है। एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक यहां स्थित मोखाडा तहसील के मरकडवाडी क्षेत्र में एक महिला को प्रसव पीड़ा हुई तो उसके लिए वाहन का इंतजाम नहीं हो पाया। महिला को तत्काल इलाज की जरूरत थी जो नहीं मिल पाया। इसके बाद महिला ने जुड़वां बच्चों को जन्म दिया लेकिन दोनों बच्चों की मां के सामने ही मौत हो गई।

इतना ही नहीं इसके बाद महिला की हालत भी गंभीर हो गई। जब वाहन तब भी नहीं मिल पाया तो महिला के परिजनों ने चादर से डोली बनाई और उसे अस्पताल की तरफ लेकर गए। महिला की हालात इतनी खराब थी कि वह बेहोश हो चुकी थी। रास्ता बेहद खराब होने की वजह से महिला को करीब तीन किलोमीटर तक डोली से अस्पताल ले जाया गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक महिला की तबीयत अचानक खराब हुई थी। महिला की डिलिवरी सात महीने में ही होने से बच्चे कमजोर पैदा हुए थे और उन्हें बचाया नहीं जा सका। ना रास्ता ठीक था और ना ही समय से वाहन मिला, जिसके चलते यह दर्दनाक घटना सामने आई।