Breaking News

आत्मनिर्भरता की दिशा में रक्षा मंत्री का बड़ा कदम: राजनाथ सिंह ने सौंपे भारतीय सेना को कई स्वदेशी हथियार

नई दिल्ली : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आत्मनिर्भर भारत की दिशा में एक बड़े कदम के तहत आज भारतीय सेना को स्वदेश निर्मित कई हथियार सौंपें. इनमें एंटी-पर्सोनेल लैंड माइन निपुण, पैंगोंग झील में संचालन के लिए लैंडिंग क्राफ्ट अटैक, इन्फैंट्री कॉम्बैट व्हीकल और कई अन्य प्रणालियां शामिल हैं.

राजधानी दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में भारतीय सेना के इंजीनियर इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह ने कहा, सशस्त्र बलों के लिए हथियार प्रणालियों के स्वदेशीकरण को बढ़ावा देने में मदद करने के लिए भारत सरकार द्वारा पिछले कुछ समय में विभिन्न नीतिगत निर्णय लिए गए. इस दिशा में आगे बढ़ते हुए आज सेना में कई नए स्वदेशी सैन्य उपकरण शामिल किए जा रहे हैं, जिनमें लैंड माइंस, पर्सनल वेपन्स और इन्फैंट्री कॉम्बैट व्हीकल शामिल हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह ने मीडिया से कहा, मैं सेना प्रमुख की ओर से आश्वासन देता हूं कि भारतीय सेना किसी भी खतरे से निपटने के लिए तैयार है. चाहे वह पश्चिमी रेगिस्तान हो या लद्दाख सेक्टर में ऊंचाई वाले स्थान. आपको बता दें कि रक्षा मंत्रालय ने इस साल जून में 76,390 करोड़ रुपये के स्वदेशी सैन्य उपकरणों और प्लेटफार्मों की खरीद को मंजूरी दी थी. प्रस्तावों को डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह की अध्यक्षता वाली रक्षा अधिग्रहण परिषद द्वारा अनुमोदित किया गया था.