अधीर रंजन के बयान पर भड़के भाजपा के आदिवासी सांसद, किरेन रिजिजू बोले- सोनिया गांधी मांगे देश से माफ़ी

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता और लोकसभा में नेता सदन अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Choudhary) द्वारा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू (President Draupadi Murmu) पर दिए विवादित बयान पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) लगातार कांग्रेस (Congress) और पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) पर हमलावर है। गुरुवार को भाजपा के सभी जनजातीय सांसदों ने पत्रकरो को संबोधित कर कांग्रेस नेता पर जोरदार हमला बोला। केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू (Kiren Rijiju) ने कहा कि, यह टिपण्णी बेहद निंदनीय है ,सोनिया गांधी को इसको लेकर देश से माफ़ी मांगनी चाहिए।”

रिजिजू ने कहा, “अधीर रंजन चौधरी ने जिस तरह से राष्ट्रपति को संबोधित किया, हम उसकी कड़ी निंदा करते हैं। हम उस दिन से कांग्रेस की टिप्पणियां देख रहे हैं, जब से उन्हें इस पद के लिए नामांकित किया गया था। कांग्रेस के एक प्रवक्ता ने कहा कि “उनका चयन भारत के बुरे दर्शन का प्रतिनिधित्व करता है”

कानून मंत्री ने आगे कहा, “जब उन्होंने राष्ट्रपति का पद ग्रहण कर लिया है, तो कोई और टिप्पणी नहीं की जानी चाहिए। अधीर रंजन ने अपने बयान से राष्ट्रपति की गरिमा को ठेस पहुंचाई है। न केवल उन्हें बल्कि पूरी कांग्रेस पार्टी और उसकी अध्यक्ष सोनिया गांधी को देश से माफी मांगनी चाहिए।”

विवाद बढ़ने पर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि, “अगर ज़रूरत पड़ी तो मैं राष्ट्रपति से मिलकर माफी मागूंगा। मैं तो बार-बार कह रहा हूं कि मुझसे चूक हुई है लेकिन BJP मुद्दे को भटका रहे हैं। मुझे बोलने का मौका देना चाहिए। राष्ट्रपति सर्वोच्च स्थान पर हैं मैं कभी सपने में भी नहीं सोच सकता कि ऐसा कहूं।”

इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लेकर कहा कि, “मैं राष्ट्रपति का अपमान करने के बारे में सोच भी नहीं सकता। यह सिर्फ एक गलती थी। अगर राष्ट्रपति को बुरा लगा तो मैं व्यक्तिगत रूप से उनसे मिलूंगा और माफी मागूंगा। वे चाहें तो मुझे फांसी दे सकते हैं। मैं सजा भुगतने को तैयार हूं लेकिन सोनिया गांधी इसमें क्यों घसीटा जा रहा है?”