राजस्थान के बाड़मेर में मिग-21 क्रैश, दोनों पायलटों की मौत

बाड़मेर । बाड़मेर में भारतीय वायुसेना के मिग-21 दुर्घटना में दो पायलटों की मौत हो गई। उत्तरलाई एयरबेस से उड़ान भरने वाला ट्विन सीटर मिग-21 ट्रेनर रात करीब 9.10 बजे रात में उड़ान भरने के दौरान भीमदा गांव के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

मिग-21 को बहुत पहले ही सेवानिवृत्त हो जाना चाहिए था। लेकिन नए लड़ाकू विमानों, विशेष रूप से स्वदेशी तेजस हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) को शामिल करने में भारी देरी का मतलब है कि भारतीय वायुसेना अभी भी चार मिग -21 स्क्वाड्रन (प्रत्येक में 1618 जेट हैं) को ‘बाइसन’ मानकों में अपग्रेड करने के बाद भी संचालित करती है।

मिग-21, जिसकी लैंडिंग और टेक-ऑफ की गति दुनिया में 340 किमी प्रति घंटा है, 1960 के दशक के डिजाइन विंटेज के हैं और बड़े पैमाने पर अंतर्निहित सुरक्षा तंत्र के साथ आधुनिक प्रणनालियों रहित है।