भाजपा कार्यकर्ता की हत्या के बाद तेजस्वी सूर्या के बयान से विवाद

बेंगलुरू । भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष और बेंगलुरु दक्षिण के सांसद तेजस्वी सूर्या के उस बयान पर विवाद खड़ा हो गया है, जिसमें उन्होंने कहा था किक्या सभी को सुरक्षा गार्ड मुहैया कराए जा सकते हैं। यह बयान कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले के बेल्लारे में भाजपा युवा मोर्चा के नेता प्रवीण नेत्तार की हत्या की पृष्ठभूमि में आया है।

पूर्व मंत्री और उल्लाल विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक यू.टी. खादर ने बयान देने के लिए सूर्या की खिंचाई की और कहा कि यह उनकी अपरिपक्वता को दर्शाता है। खादर ने कहा, .. आप (तेजस्वी सूर्य), सत्ताधारी दल से होने के कारण सवाल कर रहे हैं कि क्या सभी की सुरक्षा संभव है। यह आपकी अक्षमता और लाचारी को दर्शाता है। लोग सभी घटनाक्रमों को देख रहे हैं।

इस बीच, सूर्या का एक कथित ऑडियो क्लिप, जिसमें कहा गया है कि अगर मौजूदा सरकार कांग्रेस द्वारा चलाई जाती तो पथराव किया जा सकता था।
कांग्रेस अध्यक्ष डी.के. शिवकुमार ने लीक क्लिप पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, सूर्या लंबे समय से एक सुनियोजित साजिश रच रहे हैं। उन्होंने सीधे तौर पर बताया है कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं को क्या करना चाहिए.. वह एक सांसद की तरह व्यवहार नहीं कर रहे हैं।

सूर्या ने भाजपा कार्यकर्ता नेत्तार की हत्या पर टिप्पणी करते हुए कहा था, “उदयपुर में, कन्हैया लाल की हत्या उन लोगों ने की थी जो ग्राहकों के वेश में उसकी दुकान पर आए थे। क्या हम राज्य में हर किसी को एक सुरक्षा गार्ड प्रदान कर सकते हैं?”सूर्या ने कहा, “एक संगठन के रूप में हमारी जिम्मेदारी है कि हम प्रवीण के परिवार के प्रति संवेदनशील रहें। उनका 9 महीने का बच्चा है। प्रवीण का परिवार कहाँ जाए? जो लोग आकर हिंदू कार्यकतार्ओं का गला काटते हैं, उन्हें यह संदेश नहीं दिया जाना चाहिए कि हिंदू समाज पीड़ितों के साथ खड़े हैं?”

उन्होंने आगे कहा था कि इस मामले को हत्या के बजाय आतंकवाद का कृत्य माना जाना चाहिए और यूएपीए की धाराएं लगाई जानी चाहिए।