मुंबई क्राइम ब्रांच ने 362 करोड़ की हेरोइन और 460 किलोग्राम गांजा की बड़ी खेप पकड़ी

मुंबई : देश की आर्थिक राजधानी मुंबई (Mumbai) और उससे सटे क्षेत्रों में नशे के सौदागरों के खिलाफ कानून का शिंकजा कसता जा रहा है। इसी क्रम में नवी मुंबई पुलिस (Navi Mumbai Police) ने करोड़ों की ड्रग (Heroin) पकड़ी है और इस मामले की तह तक जानें के लिए तेजी से जांच कर रही है। जबकि ठाणे पुलिस ने भिवंडी इलाके से ड्रग तस्करों को गिरफ्तार है और उनके कब्जे से 460 किलोग्राम गांजा बरामद किया है।

जानकारी के मुताबिक, नवी मुंबई (Navi Mumbai) क्राइम ब्रांच ने एक इंटरनेशनल ड्रग रैकेट का भंडाफोड़ किया है और 362.5 करोड़ रुपये की हेरोइन जब्त की है। नवी मुंबई पुलिस ने 14 जुलाई को पनवेल (Panvel) के अजिवली (Ajivali) में स्थित नवकर लॉजिस्टिक्स (Navkar Logistics) पर रेड के दौरान एक कंटेनर से ड्रग्स की बड़ी खेप पकड़ी।

अधिकारी ने कहा कि जब्त ड्रग्स को कंटेनर के दरवाजे में छुपाया गया था, जो पुराने मुंबई-पुणे राजमार्ग पर स्थित एक यार्ड के पास रखा गया था और इसका अंतिम गंतव्य पंजाब था। पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

वहीँ, मुंबई से सटे ठाणे जिले की पुलिस ने भिवंडी (Bhiwandi) क्षेत्र में दो ड्रग तस्करों को गिरफ्तार किया और उनके कब्जे से 460 किलोग्राम गांजा जब्त किया। जब्त गांजा की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 51 लाख रुपये बताई जा रही है। एनडीपीएस (NDPS) एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आगे की जांच की जा रही है।

वरिष्ठ निरीक्षक विकास घोडके ने बताया कि अपराध इकाई-V (वागले एस्टेट) ने भिवंडी के काशेली (Kasheli) में गोदाम में छापा मारा और मालिक विकास प्रेमशंकर चौबे को गिरफ्तार कर लिया। अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने पहले अंबालाल जगदीश जाट (30) को गांजे की कथित तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किया था और उसके पास से 16 लाख रुपये से अधिक मूल्य का 110 किलोग्राम नशीला पदार्थ जब्त किया था। उससे पूछताछ के दौरान ने चौबे की संलिप्तता का खुलासा हुआ और फिर वहां छापेमारी की गयी।

जांच उन्होंने ने कहा कि पुलिस ने अब तक 460 किलोग्राम गांजा और मोबाइल फोन और एक टेंपो सहित अन्य सामान जब्त किया है, जिनकी कीमत 51 लाख रुपये से अधिक है। इस संबंध में नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस (एनडीपीएस) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।