UP-दिल्ली के बाद अब ‘काली’ फिल्म की डायरेक्टर लीना मणिमेकलई के खिलाफ हरिद्वार में भी FIR दर्ज

नई दिल्ली. सुबह की बड़ी खबर के अनुसार, विवादित डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ (Documentary Film ‘Kali’ Objectionable Poster) की डायरेक्टर लीना मणिमेकलई (Leena Manimekalai) और 10 अन्य लोगों पर अब उत्तराखंड के हरिद्वार में FIR दर्ज की गई है। दरअसल काली फिल्म से पोस्टर से धार्मिक भावनाओं के आहत होने के मामले में हिंदू युवा वाहिनी के विक्रम सिंह राठौर ने कनकल पुलिस स्टेशन में यह FIR दर्ज कराई है। जिन 11 लोगों के खिलाफ यह शिकायत दर्ज की गई है उनमें लीना मणिमेकलई के साथ असोसिएट प्रोड्यूसर आशा पोन्नाचन, को-साइटर और एडिटर श्रवण समेत फिल्म का क्रू भी शामिल है।

गौरतलब है कि इसके पहले उत्तर प्रदेश में ‘काली’ के फिल्म मेकर्स के खिलाफ FIR दर्ज की गई है। दरअसल यूपी पुलिस ने हिंदू देवी-देवताओं के अपमानजनक चित्र बनाने के आरोप में फिल्म ‘काली’ की निर्माता लीना मणिमेकलाई के खिलाफ आपराधिक साजिश, पूजा स्थल पर अपराध, जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को आहत करने के इरादे से शांति भंग करने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की है। वहीं दिल्ली पुलिस की IFSO इकाई ने भी ‘काली’ फिल्म से संबंधित एक विवादास्पद पोस्टर के संबंध में IPC की धारा 153A और 295A के तहत प्राथमिकी दर्ज की है।

बता दें कि हाल ही में डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ का एक पोस्टर सोशल मीडिया पर शेयर किया गया था। जिसमें ‘देवी काली’ को एक अलग ही रूप को दिखाया गया है। दरअसल इस पोस्टर में मां काली बनी अभिनेत्री के एक हाथ में सिगरेट तो दूसरे हाथ में एलजीबीटीक्यू का झंडा दिखाया गया है। देवी का यह रूप देख हर कोई हैरान रह गया था। यहां तक की सोशल मीडिया पर इस पोस्टर को लेकर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में भी ‘काली’ के निर्माताओं को अब जल्द ही गिरफ्तार करने की मांग की जा रही है। पता जो कि ‘काली’ फिल्म का पोस्टर बीते 4 जुलाई को आया था।