उदयपुर घटना की निंदा करने पर सूफी खानकाह एसोसिएशन के अध्यक्ष को मिली धमकी

कानपुर । उत्तर प्रदेश में कानपुर स्थित सूफी खानकाह एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहम्मद कौसर हसन मजीदी को कथित तौर पर एक फोन कॉल आया, जिसमें उदयपुर की घटना की निंदा करने और सुन्नी इस्लामिक संगठन ‘दावत-ए-इस्लामी’ के खिलाफ अभियान शुरू करने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी गई है। यह जानकारी पुलिस ने दी। मजीदी ने जूही थाने में शिकायत दर्ज कर कानपुर में दावत-ए-इस्लामी की गतिविधियों की जांच की मांग की थी।

उन्होंने प्रवक्ता के रूप में भी उदयपुर की घटना की निंदा की थी, जिसके बाद उनके मोबाइल फोन पर एक अज्ञात कॉलर ने उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी थी।

पुलिस ने कहा कि वे मामले के संबंध में मजीदी की शिकायत की जांच कर रहे हैं।

मजीदी ने इससे पहले 2021 में कानपुर में दावत-ए-इस्लामी के संचालन की जांच के संबंध में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय में शिकायत की थी।

संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने कहा, “पुलिस मजीदी की शिकायत की जांच कर रही है और सबूतों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।”

कानपुर में दावत-ए-इस्लामी संगठन की गतिविधियों और उसी नाम के संगठनों के साथ इसके संभावित संबंध पर सवाल उठाए गए हैं, जिसका मुख्यालय पाकिस्तान में है।