सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड मामले में पंजाब पुलिस ने की पहली गिरफ्तारी, उत्तराखंड से पकड़े आरोपी को कोर्ट ने भेजा 5 दिन की पुलिस रिमांड पर

चंडीगढ़. पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला (Punjabbi Singer Sidhu Musewala) आज पंचतत्व में विलीन हो गए। पैतृक गांव मूसा में उनका अंतिम संस्कार किया गया। इस हत्याकांड मामले में पंजाब पुलिस (Punjab Police) ने मंगलवार को पहली गिरफ्तारी की। इस बात की जानकारी सूत्रों ने दी है।

उत्तराखंड से आरोपी गिरफ्तार
सूत्रों ने बताया कि पुलिस ने उत्तराखंड (Uttarakhand) से मनप्रीत सिंह (Manpreet Singh) नामक शख्स को गिरफ़्तार किया। वह कल पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गए छह लोगों में शामिल था। मनप्रीत को अदालत में पेश किया गया, जहां उसे 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है।

इससे पहले, पंजाब पुलिस ने कहा था कि हत्या एक अंतर-गिरोह प्रतिद्वंद्विता का परिणाम प्रतीत होती है। वहीं, कनाडा के गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने रविवार शाम एक फेसबुक पोस्ट में सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी ली। गोल्डी बराड़ गैंग लीडर लॉरेंस बिश्नोई का करीबी सहयोगी है, जिसके बारे में कहा जाता है कि वह गायक की हत्या में शामिल था।

बता दें कि, गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई पर सिद्धू मूसेवाला की हत्या के साथ संबंध होने का आरोप लगाया जा रहा है। बिश्नोई को मंगलवार को दिल्ली की तिहाड़ जेल से पुलिस पूछताछ के लिए ले गई। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एक पुराने मामले में लॉरेंस बिश्नोई की 5 दिन की हिरासत हासिल की है। सिद्धू की हत्या के सिलसिले में स्पेशल सेल उससे पूछताछ करेगी, जबकि काला जत्थेदी और काला राणा से भी पूछताछ की जाएगी।

सरकार ने हटाई सुरक्षा, सिद्धू की हत्या
विदित हो कि, शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ सिद्धू मूसेवाला की रविवार को पंजाब के मानसा जिले में अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। हमले के समय वह महिंद्रा थार जीप से यात्रा कर रहे थे। गाड़ी में उनके साथ सवार उनका एक रिश्तेदार और एक दोस्त इस हमले में घायल हो गए।

मूसेवाला ने हाल में पंजाब विधानसभा चुनाव में मानसा से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था, लेकिन आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार विजय सिंगला से उन्हें शिकस्त का सामना करना पड़ा था। पंजाब पुलिस ने शनिवार को 424 लोगों की सुरक्षा वापस ले ली थी या घटा दी थी। इन लोगों में मूसेवाला भी शामिल थे।