Breaking News

योगमय हुई काशी, घाटों पर दिखा उत्सव का नजारा

शहर से लेकर देहात तक में हर आम से लेकर खास तक…सभी ने किया योग, प्रधानमंत्री ने नमोघाट पर लोगों को डिजिटली संबोधित किया, जेटी को आपस में जोड़कर बनाई गई 75 की आकृति सभी के आकर्षण का केंद्र रहीं, करें योग, रहें निरोग के तहत योग गुरुओं ने विभिन्न प्रकार के योग के बारे में दी जानकारी, मन और शरीर को आध्यात्मिक रूप से जोड़ने के लिए योग एक सेतु है: जयवीर सिंह

-सुरेश गांधी

वाराणसी : कोरोना की वजह से दो साल में पहला मौका है जब सामूहिक रूप से लोगों ने किया। शहर हो देहात पार्कों, कार्यालयों, स्कूल-कॉलेजों, गली मोहल्लों में लोगों ने योग किया। खासकर काशी के घाटों पर तो उत्सव का नजारा देखने को मिला। कोई ऐसा घाट नहीं रहा, जहां लोगों ने योग ना किया हो। इसमें विद्यार्थी से लेकर अधिकारी, कर्मचारी, शिक्षक शामिल रहे। सभी को शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए योग को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने के लिए प्रेरित किया गया। सभी से प्रतिदिन आधा घंटा योग करने का आह्वान किया गया।

जैसे-जैसे आकाश में सूरज की लालिमा बिखर रही थी, वैसे-वैसे लोग घरों से योग के लिए सड़कों पर जाते दिखे। सबको जल्दी थी योग शिविरों में शामिल होने की। देखते ही देखते जगह-जगह हजारों की तादाद में लोग जुट गए। मां गंगा की लहरों के साथ घाटों, पार्कों, मैदानों से लेकर ग्रामीण अंचल तक सेहत और खुशहाली का उत्सव सज गया। दुनिया को योग की अनमोल भेंट देने वाले महर्षि पतंजलि की कर्मभूमि काशी योग में रम गई। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत एक लय, एक प्रवाह में प्राणायाम से लेकर शीर्षसन तक योग के विविध रूप साकार हुए। मंत्री, जनप्रतिनिधि, अधिकारी, चिकित्सक, शिक्षक, उद्यमी, खिलाड़ी, स्वयंसेवी संगठनों के साथ बच्चे, बुजुर्ग, युवा और महिलाओं ने भागीदारी कर भारतीय संस्कृति के इस महाउत्सव को यादगार बना दिया।

नमो घाट पर आयोजित मुख्य कार्यक्रम में पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह, मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस दौरान मुख्य अतिथि ने कहा कि योग मनुष्य को केवल शारीरिक और मानसिक तौर पर स्वस्थ नहीं बनता बल्कि यह सामाजिक रूप से भी व्यक्ति का विकास करता है। कार्यक्रम के लिए नमो घाट पर 19 ब्लॉक बनाए गए थे। जहां पांच हजार से ज्यादा लोगों ने एक साथ योग किया। इस दौरान जेटी को आपस में जोड़कर बनाई गई 75 की आकृति सभी के आकर्षण का केंद्र रहीं। सभी ब्लाक में लगी एलईडी स्क्रीन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मैसूर में आयोजित कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया गया।

कार्यक्रम में भाजपा प्रदेश सह प्रभारी सुनील ओझा, महापौर मृदुला जायसवाल, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, नगर आयुक्त प्रणय सिंह आदि मौजूद रहे। अस्सी घाट पर विधायक डॉ. नीलकंठ तिवारी ने प्रबुद्धजनों संग योगाभ्यास किया। अस्सी घाट के अलावा तुलसी घाट से भदैनी घाट तक आरएसएस की अनुसांगिक शाखा के सदस्य, आनंदमयी घाट पर शिक्षा विभाग, जैन घाट पर सनबीम भगवानपुर की छात्राओं के साथ 84 घाटों पर योग की पाठशाला लगी। वहीं दशाश्वेमध स्थित शास्त्रार्थ महाविद्यालय में बटुकों ने भी योग के विभिन्न आकर्षक मुद्राओं का अभ्यास किया। नागरिक सुरक्षा के वार्डेन और स्वयंसेवकों ने हनुमानगढ़ी घाट पर योगाभ्यास किया।

जायसवाल क्लब के गोपालजी वितरीत किया योग ड्रेस

जायसवाल क्लब के तत्वावधान में सेंट मेरी स्कूल, सोनातालाब, पचकोशी मार्ग में योग शिविर का आयोजन किया गया। इस मौके पर जायसवाल क्लब के गोपालजी जायसवाल की ओर से स्कूल के सभी बच्चों एवं स्वजातिय बंधुओं को योग ड्रेस वितरीत किया गया। इस दौरान बच्चों से लेकर शिक्षकों तक ने स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए शरीर को योग के प्रति समर्पित किया। इस अवसर पर शरद जायसवाल, मनोज जायसवाल पतंजलि, कमलेश जायसवाल, अरविन्द जायसवाल, संजीव जायसवाल, अनिल जायसवाल, रोहित जायसवाल आदि मौजूद थे। गोपालजी जायसवाल ने कहा कि योग मनुष्यों को ब्रह्मांड के साथ जोड़ता है। यह ’परमात्मा’ के साथ ’आत्मा’ की एकता लाने के लिए माध्यम है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *